व्हाट्सएप से चैट करने के अलावा, आप सामान भी ऑर्डर कर सकते हैं, रिलायंस तैयारी कर रहा है


रिलायंस ने फ्लिपकार्ट और अमेजन जैसी कंपनियों के प्रभुत्व को खत्म करने की तैयारी शुरू कर दी है। इसके लिए कंपनी व्हाट्सएप के साथ मिलकर काम कर रही है और जल्द ही यूजर्स को चैटिंग के दौरान सामान ऑर्डर करने की सुविधा भी मिलेगी।

मुकेश अंबानी की कंपनी रिलायंस रिटेल लिमिटेड अपने ई-कॉमर्स ऐप JioMart को इंस्टेंट मैसेजिंग ऐप व्हाट्सएप से जोड़ने की तैयारी कर रही है। रिपोर्ट के अनुसार, कंपनी की योजना अगले 6 महीनों के भीतर काम पूरा करने की है। इसके तहत यूजर्स को व्हाट्सएप पर चैटिंग के दौरान सामान ऑर्डर करने की सुविधा मिलेगी। खास बात यह है कि यूजर्स को सामान ऑर्डर करने के लिए ऐप से बाहर निकलने की जरूरत नहीं होगी।

कंपनी की यह योजना अमेज़न और फ्लिपकार्ट जैसे शॉपिंग प्लेटफॉर्म पर प्रतिस्पर्धा कर सकती है। रिपोर्ट में बताया गया है कि JioMart अब देश के हर कोने तक पहुंचने की तैयारी कर रहा है, इसके लिए कंपनी व्हाट्सएप पर काम करेगी। बल्कि रिलायंस और व्हाट्सएप ने भी इस प्लानिंग पर काम करना शुरू कर दिया है। यह भी कहा गया है कि यह योजना अगले 6 महीनों के भीतर शुरू हो जाएगी।

जिसके बाद यूजर वॉट्सऐप पर बिना चैट छोड़े वहां से सामान मंगवा सकेंगे। रिलायंस की इस पहल के बाद JioMart देश के हर नुक्कड़ पर पहुंच जाएगा। इसके साथ, लोकप्रिय ऑनलाइन शॉपिंग प्लेटफ़ॉर्म अमेज़ॅन और फ्लिपकार्ट अपने वर्चस्व को कम कर सकते हैं। रिलायंस के व्हाट्सएप के साथ काम करने के लिए रिलायंस के व्हाट्सएप के लगभग 400 करोड़ उपयोगकर्ताओं तक पहुंच होगी। ऐसे में यह तर्क दिया जा रहा है कि जब यूजर्स को चैटिंग में शॉपिंग का विकल्प मिलेगा, तो अन्य साइट्स के प्रति उनका नजरिया कम हो जाएगा।

रिलायंस ने पिछले साल मई 2020 में एक साथ 200 शहरों और कस्बों में JioMart लॉन्च किया था। जिसके बाद कंपनी ने अप्रैल 2020 में व्हाट्सएप के साथ एक समझौते पर हस्ताक्षर किए। अप्रैल में, फेसबुक ने रिलायंस के Jio में 5.7 बिलियन डॉलर में 9.9 प्रतिशत हिस्सेदारी खरीदी। वहीं, कंपनी इसे व्हाट्सएप में जोड़ने की तैयारी कर रही है ताकि ज्यादा लोग इससे जुड़ सकें और चैटिंग के दौरान बिना किसी परेशानी के सामान ऑर्डर कर सकें।

Related Posts