10 उपग्रहों के साथ PSLV-C49 लॉन्च करने के लिए ISRO, काउंटडाउन शुरू, आज 3.02 बजे शुरू


इसरो (PSLV-C49) के इस रॉकेट के दस उपग्रहों के साथ शनिवार दोपहर 02:00 बजे प्रक्षेपित किए जाने की उम्मीद है। बता दें कि PSLV-C 49 देश के रडार इमेजिंग सैटेलाइट (उपग्रह) और 9 अन्य विदेशी उपग्रहों को ले जाएगा।

इसरो अंतरिक्ष में एक बार फिर से अपना परचम लहराने जा रहा है। 10 उपग्रहों के साथ लॉन्च किए गए PSLV-C49 की उलटी गिनती शुरू हो गई है। शनिवार को पहले लॉन्च पैड से रॉकेट लॉन्च के लिए 26 घंटे की उलटी गिनती आज यानि शुक्रवार दोपहर से शुरू हो गई है। रॉकेट को शनिवार दोपहर 02:00 बजे दस उपग्रहों के साथ लॉन्च किए जाने की उम्मीद है। पीएसएलवी सी -49 देश के रडार इमेजिंग उपग्रह (उपग्रह) और 9 अन्य विदेशी उपग्रहों को ले जाएगा।

पहले लॉन्च पैड से रॉकेट लॉन्च के लिए 26 घंटे की उलटी गिनती शुरू होगी। इन 10 उपग्रहों वाले रॉकेट को 7 नवंबर यानी शनिवार को दोपहर 3 बजे श्रीहरिकोटा रॉकेट पोर्ट से लॉन्च किया जाना है। यदि शनिवार शाम को ध्रुवीय उपग्रह प्रक्षेपण वाहन (PSLV-C49) उड़ान के साथ सब कुछ ठीक हो जाता है, तो भारतीय अंतरिक्ष एजेंसी के पास अब तक भुगतान किए गए अंतरिक्ष में कुल 328 विदेशी उपग्रह होंगे। इस साल, इसरो 7 नवंबर को लॉन्च करने वाला पहला उपग्रह होगा।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, श्रीहरिकोटा के सतीश धवन स्पेस सेंटर से लॉन्च करने की जानकारी दी गई है। इस क्रम में इसरो के उपग्रह EOS को PSLV C-49 रॉकेट के साथ लॉन्च किया जाएगा। खास बात यह है कि सी -49 न केवल एक भारतीय को उड़ाएगा, बल्कि नौ विदेशी उपग्रहों के साथ भी उड़ान भरेगा। लॉन्च किए जाने वाले 9 विदेशी उपग्रहों में लिथुआनिया (1-टेक्नोलॉजी डेमोंस्ट्रेटर), लक्समबर्ग (क्लियोस स्पेस द्वारा 4 मैरीटाइम एप्लीकेशन सैटेलाइट) और यूएस (4-लेमूर मल्टी-मिशन रिमोट सेंसिंग सैटेलाइट) शामिल हैं।

यह प्रस्तावित प्रक्षेपण इस साल के भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) के लिए पहला अंतरिक्ष मिशन होगा। आपको बता दें कि EOS-01 अर्थ ऑब्जर्वेशन रीसेट उपग्रह की एक उन्नत श्रृंखला है। इसमें एक सिंथेटिक एपर्चर रडार (SAR) है, जो किसी भी समय और किसी भी मौसम में पृथ्वी की निगरानी कर सकता है। इस उपग्रह की सबसे बड़ी विशेषता यह है कि यह बादलों के बीच भी पृथ्वी को देख सकता है और एक स्पष्ट तस्वीर ले सकता है। यह दिन और रात की तस्वीरें ले सकता है और निगरानी के साथ-साथ नागरिक गतिविधियों के लिए उपयोगी है।

Related Posts

गोदरेज ने यूवी-सी लाइफ डिसइंफेक्शन तकनीक से एक ऐसा डिवाइस लांच किया है जिस के साथ पैसे, स्मार्टफोन और जूलरी से लेकर डेली यूज प्रोडक्ट को मिनटों में सैनिटाइज कर सकते हैं।
11 Aug 2020
रूस का दूसरी कोरोना वैक्सीन का सफलतापूर्वक परीक्षण भी पूरा हुआ।
01 Oct 2020
पृथ्वी के सुरक्षात्मक कवच में धीरे-धीरे दरारें बढ़ रही हैं, जिस कारन आगे चलकर इस के दो टुकड़े हो सकते हैं।
21 Aug 2020
अमेरिकी कंपनी क्वालकॉम ने एक ऐसा क्विक चार्ज लॉन्च किया है जो 15 मिनट में ही स्मार्टफोन की बैटरी को फुल चार्ज कर देगी।
26 Aug 2020
Amazon Alexa ऐप को मिला हिंदी सपोर्ट
19 Sep 2020
अंतरराष्ट्रीय अंतरिक्ष स्टेशन को अंतरिक्ष के मलबे से टकराने का खतरा था इसीलिए इसे किसी दूसरी जगह शिफ्ट किया गया
24 Sep 2020
चंद्रमा और मंगल पर प्रयोग के लिए अंतरिक्ष में भेजेगा नासा, 170 करोड़ के नए शौचालय, हो रहा परीक्षण
29 Sep 2020
आज 13-October-2020 को अंतरिक्ष में एक अद्भुत दृश्य होगा, मंगल पृथ्वी के करीब होगा
13 Oct 2020