चंद्रमा और मंगल पर प्रयोग के लिए अंतरिक्ष में भेजेगा नासा, 170 करोड़ के नए शौचालय, हो रहा परीक्षण


चंद्रमा और मंगल पर उपयोग की संभावना तलाशी जाएगी।

अमेरिकी अंतरिक्ष अनुसंधान एजेंसी NASA अंतर्राष्ट्रीय अंतरिक्ष स्टेशन (ISS) को $ 23 मिलियन (लगभग 170 करोड़ रुपये) शौचालय भेजेगा। वहां उनके अनुभवों के आधार पर, चंद्रमा और मंगल पर उनके उपयोग की संभावना का पता लगाया जाएगा। इन शौचालयों को अन्य चीजों के साथ, 29 सितंबर को वर्जीनिया में नासा के वाल्प्स फ्लाइट सुविधा से एक अंतरिक्ष यान के माध्यम से भेजा जाएगा। शिप किए जा रहे स्पेस टॉयलेट को यूनिवर्सल वेस्ट मैनेजमेंट सिस्टम नाम दिया गया है, वे छोटे और सुविधाजनक हैं। 

वर्तमान में आईएसएस में स्थापित शौचालय 65 प्रतिशत छोटे और 40 प्रतिशत हल्के हैं। ओरियन अंतरिक्ष यान में भी उसी शौचालय का उपयोग किया जाएगा, जो अंतरिक्ष यात्रियों को दस दिन के अभियान पर चंद्रमा पर वापस ले जाएगा। इस नए शौचालय में मल और मूत्र के उपचार की सुविधा भी है। मूत्र को शुद्ध किया जाएगा और पुन: उपयोग योग्य पानी में परिवर्तित किया जाएगा, अंतरिक्ष यात्री जरूरत पड़ने पर इसे पीने में भी सक्षम होंगे। जबकि मल को बाद में फेंक दिया जाएगा।

नासा के अंतरिक्ष यात्री जेसिका मीयर ने कहा है कि हम 90 प्रतिशत मूत्र, पसीने और अन्य तरल पदार्थों का इलाज करते हैं जो हम बाद में उपयोग करते हैं। पृथ्वी पर पानी हवा के माध्यम से शुद्ध होता है, लेकिन यह अंतरिक्ष में संभव नहीं है। नासा के अंतरिक्ष यात्री केट रूबिंस ने कहा कि वह अंतरिक्ष से अपना अगला वोट डालने की योजना बना रही हैं। केट रूबिंस ने शुक्रवार को द एसोसिएटेड प्रेस को बताया कि वह पृथ्वी से 200 मील से अधिक दूरी पर अपना अगला वोट डालने की योजना बना रही है।

रुबिन रूस के स्टार सिटी में मास्को के ठीक बाहर है, अक्टूबर के मध्य में दो कॉस्मोनॉट के साथ लॉन्च की तैयारी कर रहा है। इस नए शौचालय में मल और मूत्र के उपचार की सुविधा भी है। मूत्र को उपचारित किया जाएगा और पुन: उपयोग योग्य पानी में परिवर्तित किया जाएगा, यदि आवश्यक हो, तो अंतरिक्ष यात्री वही पीने में सक्षम होंगे। जबकि मल को बाद में फेंक दिया जाएगा।

Related Posts

गोदरेज ने यूवी-सी लाइफ डिसइंफेक्शन तकनीक से एक ऐसा डिवाइस लांच किया है जिस के साथ पैसे, स्मार्टफोन और जूलरी से लेकर डेली यूज प्रोडक्ट को मिनटों में सैनिटाइज कर सकते हैं।
11 Aug 2020
रूस का दूसरी कोरोना वैक्सीन का सफलतापूर्वक परीक्षण भी पूरा हुआ।
01 Oct 2020
पृथ्वी के सुरक्षात्मक कवच में धीरे-धीरे दरारें बढ़ रही हैं, जिस कारन आगे चलकर इस के दो टुकड़े हो सकते हैं।
21 Aug 2020
अमेरिकी कंपनी क्वालकॉम ने एक ऐसा क्विक चार्ज लॉन्च किया है जो 15 मिनट में ही स्मार्टफोन की बैटरी को फुल चार्ज कर देगी।
26 Aug 2020
Amazon Alexa ऐप को मिला हिंदी सपोर्ट
19 Sep 2020
अंतरराष्ट्रीय अंतरिक्ष स्टेशन को अंतरिक्ष के मलबे से टकराने का खतरा था इसीलिए इसे किसी दूसरी जगह शिफ्ट किया गया
24 Sep 2020
चंद्रमा और मंगल पर प्रयोग के लिए अंतरिक्ष में भेजेगा नासा, 170 करोड़ के नए शौचालय, हो रहा परीक्षण
29 Sep 2020
आज 13-October-2020 को अंतरिक्ष में एक अद्भुत दृश्य होगा, मंगल पृथ्वी के करीब होगा
13 Oct 2020