Apps

सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स पर केंद्र को सख्त निर्देश, कहा- कोरोनावायरस के 'इंडियन वेरिएंट' वाले पोस्ट को तुरंत हटाएं

MEIT की ओर से कहा गया है कि सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर कोरोनावायरस के भारतीय वेरिएंट के नाम से कई तरह की जानकारियां फैलाई जा रही हैं. ऐसे में मंत्रालय ने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स को ऐसे पोस्ट हटाने का निर्देश दिया है.

इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय की ओर से सभी सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स को उन सभी पोस्ट को तत्काल प्रभाव से हटाने के सख्त निर्देश दिए गए हैं जिनमें कोरोनावायरस के "भारतीय वेरिएंट" का उल्लेख है। केंद्र की ओर से सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म को जारी एडवाइजरी में कहा गया है कि इस तरह के पोस्ट से फर्जी खबरें और भ्रामक खबरें फैलाई जाती हैं।

MEIT की ओर से कहा गया है कि सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर कोरोनावायरस के भारतीय वेरिएंट के नाम से कई तरह की जानकारियां फैलाई जा रही हैं. ऐसे में मंत्रालय के ऐसे पोस्ट को संज्ञान में लेते हुए सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म को ऐसे पोस्ट को हटाने का निर्देश दिया गया है. मंत्रालय के मुताबिक, कोरोना वायरस के भारतीय वेरिएंट के नाम से फैलाई जा रही खबर पूरी तरह से झूठी है।

विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) द्वारा ऐसे किसी भी कोरोनावायरस वेरिएंट का उल्लेख नहीं किया गया है। कोरोनावायरस के B1617 से जुड़े भारतीय संस्करण को WHO द्वारा मान्यता नहीं दी गई है। इस मामले में स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से स्पष्टीकरण जारी किया गया है, जिसमें सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म को कोरोना वायरस के भारतीय रूपों से जुड़ी खबरों को हटाने का निर्देश दिया गया है.

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा था कि डब्ल्यूएचओ ने अपने 32-पृष्ठ के दस्तावेज़ में कोरोना वायरस के बी.1.617 संस्करण में "भारतीय संस्करण" शब्द नहीं जोड़ा है। डब्ल्यूएचओ द्वारा वैज्ञानिक रूप से इस तरह के किसी भी प्रकार की सूचना नहीं दी गई है। WHO ने कोरोना वायरस के B.1.617 वेरिएंट के साथ 'इंडियन वेरिएंट' शब्द नहीं जोड़ा है।

    Facebook    Whatsapp     Twitter    Gmail