हाई स्पीड इंटरनेट के लिए एलोन मस्क की गूगल के साथ डील, Jio को लग सकता है झटका


दरअसल, एलोन मस्क के स्पेसएक्स द्वारा गूगल डेटा सेंटर पर एक ग्राउंड स्टेशन लगाया जाएगा जो स्पेसएक्स के सैटेलाइट से जुड़ा होगा। आने वाले दिनों में दुनिया के किसी भी कोने में हाई-स्पीड इंटरनेट उपलब्ध हो जाएगा।

Elon Musk हाई स्पीड इंटरनेट सेवा प्रदान करने की दिशा में लगातार काम कर रहा है। इसे तेज करने के लिए Elon Musk ने Google के साथ पार्टनरशिप की है। इसकी घोषणा खुद गूगल ने की है। इस साझेदारी के तहत, स्टारलिंक सैटेलाइट को गूगल द्वारा कंप्यूटिंग और नेटवर्क संसाधन उपलब्ध कराए जाएंगे। दरअसल, स्पेसएक्स गूगल डाटा सेंटर पर एक ग्राउंड स्टेशन स्थापित करेगा, जो स्पेसएक्स के सैटेलाइट से जुड़ा होगा।

आने वाले दिनों में दुनिया के किसी भी कोने में हाई-स्पीड इंटरनेट उपलब्ध हो जाएगा।अगर भारत की बात करें तो Elon musk की कंपनी को हाई स्पीड इंटरनेट वाले Reliance Jio को बड़ा झटका लग सकता है। Jio भारत की सबसे बड़ी टेलीकॉम कंपनी है। कंपनी के 400 मिलियन से अधिक ग्राहक हैं। साथ ही, Jio 5G लॉन्च होने के लिए तैयार है। हालांकि सेटेलाइट आधारित हाई स्पीड इंटरनेट सेवा मुहैया कराने का काम रिलायंस जियो के गढ़ एलोन मस्क कर रहे हैं।

इसके लिए प्री-रजिस्ट्रेशन भी शुरू हो गया है। साथ ही इसे भारत में साल के अंत तक लॉन्च किया जा सकता है, जो jio के लिए मुश्किल भरा होगा। एलोन मस्क द्वारा Google के साथ एक सौदे में, स्पेसएक्स, स्पेसएक्स की ओर से Google डेटा सेंटर प्रॉपर्टीज के माध्यम से स्टारलिंक ग्राउंडेड स्टेशन का पता लगाएगा। बता दें कि आने वाले दिनों में 1500 स्टारलिंक सैटेलाइट को गूगल क्लाउड की कक्षा में लॉन्च करने की योजना है।

इससे यूजर्स बिना किसी रुकावट के हाई स्पीड इंटरनेट की सुविधा का आनंद ले सकेंगे। इसमें ग्लोबल ऑर्गनाइजेशन के साथ मिलकर एक सिक्योर कनेक्शन इंफ्रास्ट्रक्चर तैयार किया गया है। स्टारलिंक परियोजना एक उपग्रह आधारित इंटरनेट प्रदाता कंपनी है। इसकी मदद से, Starlink दुनिया के किसी भी कोने में हाई-स्पीड इंटरनेट सेवा देने में सक्षम है। कंपनी के मुताबिक, फिलहाल स्टारलिंक के दुनियाभर में 10,000 से ज्यादा एक्टिव यूजर्स हैं।

Related Posts