Google मैप में एक और नई सुविधा जोड़ी गई है, जो सोशल डिस्टेंसिंग में मदद करेगी

Google मानचित्र के नवीनतम संस्करण में कोविद -19 के संक्रमण को रोकने के लिए, 'कोविद -19 लेयर' सुविधाओं को जोड़ा गया है। नए अपडेट के मुताबिक, Google मैप्स लोकल अथॉरिटी की मदद से लोगों को भीड़-भाड़ वाले इलाके की जानकारी मुहैया कराएगा।

कोरोना वायरस से बचने के लिए, Google लगातार Google मानचित्र में नई सुविधाएँ जोड़ रहा है। कोविद -19 को देखते हुए, Google का कदम सराहनीय हो सकता है। दरअसल, कंपनी ने कोविद -19 के संक्रमण को रोकने के लिए गूगल मैप्स के नवीनतम संस्करण में 'कोविद -19 लेयर' सुविधाओं को जोड़ा है। नए अपडेट के मुताबिक, Google मैप्स लोकल अथॉरिटी की मदद से लोगों को भीड़-भाड़ वाले इलाके की जानकारी मुहैया कराएगा। Google के इस नए अपडेट के साथ, लोग सामाजिक गड़बड़ी का पालन करने में सक्षम होंगे।
केवल एंड्रॉइड और आईओएस उपयोगकर्ता इस ऐप का उपयोग कर पाएंगे। वहीं, कोविद -19 लेयर फीचर का इस्तेमाल करने के लिए यूजर्स को एप में जाकर लेयर बटन पर क्लिक करना होगा, जो एप के नीचे दाईं ओर सर्च बार में होगा और उसके बाद यूजर्स के पास होगा कोविद -19 जानकारी पर क्लिक करें। आपको बता दें कि इससे पहले कंपनी ने गूगल मैप्स पर कोरोना वायरस के बारे में एक फीचर जोड़ा था। इसमें यूजर्स भारत में कन्टेनमेंट जोन को आसानी से पा सकते हैं ताकि वे वहां जाने से बच सकें।
इसके अलावा, भारत अपने मैप्स ऐप के माध्यम से कनाडा, जर्मनी, ऑस्ट्रेलिया, ब्राजील और अमेरिका में टेकआउट और डिलीवरी ऑर्डर की लाइव स्थिति भी देख सकेगा। यह फीचर तभी काम करेगा जब एंड्रॉइड और आईओएस यूजर्स ऐप पर जाएं और बुकिंग और ऑर्डर करें। इसमें यूजर्स वेटिंग टाइम और डिलीवरी फीस के साथ मैप से दोबारा ऑर्डर बुक कर सकेंगे। Google ने कहा है कि Google मैप्स में इन नई सुविधाओं को ऐप में जोड़ा गया है, लेकिन वर्तमान में केवल कुछ उपयोगकर्ता ही इसका उपयोग कर पाएंगे।
कंपनी ने यह भी कहा है कि इन सभी नए फीचर्स का इस्तेमाल आने वाले समय में किया जा सकता है। इसके साथ ही कंपनी ऐप में गूगल असिस्टेंट ड्राइविंग मोड फीचर भी जोड़ने जा रही है जो केवल अमेरिका में उपलब्ध होगा। कंपनी इसे भारत में लाने पर भी विचार कर रही है। इस सुविधा के साथ घर से बाहर निकलने से पहले, आपको पहले से ही कोविद को सार्वजनिक स्थान और परिवहन जैसे बस, ट्रेन या अधिक भीड़-भाड़ वाले स्थानों के बारे में पता चल जाएगा।