दुनिया में भारत का सुपरकंप्यूटर 'परम सिद्धि', जानिए क्या है रैंकिंग

सुपर कंप्यूटर के क्षेत्र में, भारत दुनिया के सबसे बड़े बुनियादी ढाँचे के केंद्रों में से एक है और यह अंतिम उपलब्धि-एआई रैंकिंग से साबित हुआ है।

अब भारत तकनीक के मामले में दुनिया में अपनी अलग पहचान बना रहा है। भारत में तैयार सुपर कंप्यूटर अब दुनिया में अपनी पहचान बना रहे हैं। राष्ट्रीय सुपर कंप्यूटिंग अभियान (NSM) के तहत निर्मित 'परम सिद्धि' नामक भारतीय सुपर कंप्यूटर को दुनिया के 500 सबसे शक्तिशाली कंप्यूटरों की सूची में 63 वां स्थान दिया गया है।
विज्ञान और प्रौद्योगिकी विभाग (डीएसटी) ने मंगलवार को यह जानकारी दी। डीएसटी सचिव आशुतोष शर्मा ने कहा, 'यह एक ऐतिहासिक क्षण है। सुपर कंप्यूटरों के क्षेत्र में, भारत दुनिया के सबसे बड़े बुनियादी ढाँचों में से एक है और यह अंतिम उपलब्धि-एआई रैंकिंग से साबित हुआ है।
उन्होंने कहा, 'मुझे विश्वास है कि हमारे राष्ट्रीय शैक्षणिक, विकास और अनुसंधान संस्थानों को अंतिम उपलब्धि-एआई द्वारा मजबूत किया जाएगा। इसके अलावा, राष्ट्रीय ज्ञान नेटवर्क पर फैले उद्योगों और स्टार्टअप्स को भी फायदा होगा
डीएसटी ने कहा कि स्वास्थ्य सेवाओं को एआई प्रणाली से लाभ होगा और बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में पूर्वानुमान लगाया जा सकता है। बता दें कि जापान के सुपरकंप्यूटर फुगाकू को दुनिया के सबसे तेज कंप्यूटर का दर्जा मिला है। दुनिया के 500 सबसे तेज कंप्यूटरों की सूची बनाने वाली साइट Top500 ने इसे सबसे तेज माना है।